साल्मोनेल्लोसिस का कारण, लक्षण तथा उपचार। TREATMENT OF SALMONELLOSIS

Synonyms – Paratyphoid fever , Enteric fever . साल्मोनेल्लोसिस एक भयंकर संक्रामक रोग है जो साल्मोनेल्ला प्रजाति के बैक्टीरिया द्वारा फैलता है । यह लगभग सभी पशुओं में पाया जाता है । रोगी पशु में सेप्टिसीमिया व गंभीर दस्त होती है । आर्थिक दृष्टि से यह एक महत्वपूर्ण बीमारी है क्योंकि इसमें पशुओं की मृत्यु…

पशुओं के गले में सूजन का उपचार । TREATMENT OF PHARINGITIS

ग्रसनी ( गला) भोजन और वायु के लिए एक सामान्य मार्ग है। गला में लालिमा, जलन या संक्रमण की स्थिति को फेरिंजाइटिस ( PHARINGITIS ) या गले में सूजन कहते हैं । यह घोड़ों और कुत्तों में आम है। इसे देखें – पशुओं के खुर पकने का कारण, लक्षण तथा उपचार । TREATMENT OF FOOT…

पालतु पशुओं के युरेथ्रा , ब्लेडर और किडनी में सूजन का कारण एवम् उपचार । TREATMENT OF BOVINE PYELONEPHRITIS

यह संक्रामक रोग है जिसमें युरेथ्रा , ब्लेडर और किडनी में सूजन हो जाती है । यह मुख्य रुप से गायों में पाया जाता है । बीकानेर क्षेत्र में यह नर ऊंटों में भी पाया जाता है । इसे पढ़ें – पालतू पशुओं में जूओं , किलनी का उपचार । TREATMENT OF LOUSE INFESTATION बोवाइन…

TREATMENT OF CONTAGIOUS BOVINE PLEUROPNEUMONIA ( C.B.P.P. )

Synonyms- CBPP , Lung plague , Lung sickness . सी.बी.पी.पी. गायों में पाया जाने वाला एक अत्यधिक संक्रामक रोग है , जिसमें फेफड़े व फेफडे को घेरे रहने वाली झिल्ली प्लुरा प्रभावित होती है यह आस्ट्रेलिया , युरोप , अफ्रिका व न्युजीलैण्ड में अधिक पाया जाता है । भारत में यह रोग पूर्वी राज्य असम…

पशुओं के शरीर के जोड़ो में सूजन के साथ दर्द का होम्योपैथिक चिकित्सा ।

शरीर के जोड़ो में सूजन के साथ दर्द हो तथा समय पर उचित इलाज नहीं हो तो जोड़ो में रोग की जटिलता बढ़ती जाती है और बाद में पशु का चलना फिरना मुश्किल हो जाता है । और पढ़ें – पेट दर्द का होम्योपैथिक उपचार । Homeopathic treatment for stomach pain रूमेटिज्म का होमिपैथी उपचार…

स्टोमेटाइटिस का कारण, लक्षण तथा उपचार । TREATMENT OF STOMATITIS

मुंह की म्युकस मेम्ब्रेन में सूजन आ जाना स्टोमेटाइटिस कहलाता है । इसमें मसूढ़ों व जीभ की भी सूजन हो सकती है । इसमें मुँह में लालिमा ( redness ) सूजन ( swelling ) , लार गिरना , चबाने में तकलीफ , चपचप की आवाज ( smacking of sound ) से पशु कम या बिल्कुल…

पशुओं के थेलेजिओसिस का कारण और उपचार । TREATMENT OF THELAZIOSIS

Synonym – Eye worm disease. थेलेजिओसिस का कारण क्या है । ETIOLOGY OF THELAZIOSIS ETIOLOGY- Parasite of Thelazia species , Th . rhodesi , Th . skrjabini , Th.gulose सफेद रंग के ये पैरासाइट गाय , भैंस , भेड़ , बकरियों की आंख की म्युकस मेम्ब्रेन ( conjuctival membrane ) में पाये जाते हैं ।…

नेजल ग्रेनुलोमा रोग का उपचार TREATMENT OF CATTLE NASAL GRANULOMA

Synonyms- Schistosomiosis , Snoring disease , नकड़ा रोग ये पैरासाइट पशुओं की नाक के अन्दर रहते हैं इससे सिस्टोसोमिएसिस होता है । नेजल ग्रेनुलोमा रोग का कारण क्या है । ETIOLOGY OF NASAL GRANULOMA ETIOLOGY – Parasite – Schistosoma nasalis , S. bovis . इस पैरासाइट में सिस्टोसोमा वंश के अन्य पैरासाइट्स की तरह नर…

फाइलेरियल डर्मेटाइटिस का कारण एवम् उपचार । TREATMENT OF FILARIAL DERMATITIS

Synonyms – Dermatidles , Cutaneous filariasis , पट फूटना , मूज फूटना । फाइलेरियल डर्मेटाइटिस रोग का कारण क्या हैं । ETIOLOGY OF FILARIAL DERMATITIS ETIOLOGY– Parafilaria multipapilosa , Parafilaria bovicola ( cattle ) फाइलेरिया परजीवी पालतू पशुओं की त्वचा के नीचे पाये जाते हैं । काटने या खून चूसने वाले कीटों तथा मस्का वंश…

नवजात पशु बछड़े को होने वाली नाभि रोग का उपचार । TREATMENT OF NAVEL ILL

Synonyms – Joint ill , Omphalitis , Pyosepticaemia , Inflammation of external visible part of navel cord नाभि रोग क्यों होता है । जन्म के बाद नवजात पशु बछड़े , कटड़े आदि की गर्भनाल या नेवल कॉर्ड या अम्बलिकल कॉर्ड में सूजन आ जाने को नेवल इल या सूंडी पक जाना कहते हैं । मां…