Picricum Acidum (पिक्रीक एसिड होम्योपैथी दवा)

पिक्रिक एसिड फेनॉल से बना है । इसे ट्राई नाइट्रो फिनोल भी कहते हैं।

पिक्रिक एसिड के साइन एंड सिंप्टोम्स

सर दर्द जो बिजनेसमैन टीचर स्टूडेंट ऑफिस में काम करने वाले को ऑक्सी पिटल बोन से शुरू होकर सर्वाइकल यानी पीछे की रीड की हड्डी तक जाता है दिमागी कमजोरी कुछ करने की हिम्मत नहीं होती है सिर अकड़ जाता है कपड़े या रुमाल से बांधना पड़ जाता है इसके साथ ही आरबीसी (Rbc) ,डब्ल्यूबीसी (wbc ) की बहुत कमी रहती है जिसे एनीमिया कहते हैं।

महिलाओं की समस्या

बायी डिम्बासय मे दर्द होता है नीडल के सुई चुभने की तरह । साहब बहुत कम आता है तथा एक बीमारी होती है सीकेडी क्रॉनिक किडनी डिजीज ड्रॉप बाय ड्रॉप पेशाब का होना किडनी में सूजन हो जाना तथा जलन होना और ल्यूकोरिया का शिकायत होना।

पुरुषों की समस्या

पुरुषों में प्रोस्टेट ग्लैंड का बढ़ जाना काफी बड़ा हो जाना और सुई चुभने की तरह दर्द होना उसके वजह से काफी परेशान रहते हैं और तनाव महसूस करते हैं तथा लोअर पार्ट में पैरालाइसिस की शिकायत देखा जाता है हाथ पांव में सूजन के साथ-साथ इतनी कमजोरी रहती है कि हाथ पहिला नहीं सकता है

रोग का बढ़ाना

गर्मी के दिनों में रोग बढ़ जाता है

रोग का घटना

सर्दी के दिनों में रोग घट जाता है

दवा का प्रयोग

अगर किसी रोगी में पिक्रिक एसिड के लक्षण आते हैं

तो 200 पावर की दवा दो बूंद दो बार या 30 पावर की दवा एक बूंद तीन बार या 1000 (1m) पावर की दवा लेनी हो तो दो बूंद सप्ताह में ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.