भारतीय पशुओं की प्रमुख नस्लें ।Breeds Of Indian Animals

गायों की प्रमुख नस्लें ( BREEDS OF Cow ) दूधारु नस्लें ( Milch breeds ) – गिर , थारपारकर , साहीवाल , रेड सिंधी , राठी । बोझा ढोने वाली नस्लें ( Draught purpose breeds ) – नागौरी , खिल्लारी , हल्लीकर , अम तमहल , मालवी , क ष्णघाटी की नस्ल , बछौर ,…

भारतीय मान्यता के अनुसार हाथ मिलाना क्यों उचित नहीं है ।

भारतीय मान्यता के अनुसार हाथ मिलाना उचित हैं या नहीं ? भारतीय मान्यता के अनुसार हाथ मिलाने से अपने शरीर की संचित शक्ति दूसरे में प्रवेश कर जाती हैं । इस तरह शरीर में क्षीणता आती हैं । प्राचीन काल से ही गुरुजन अपने शिष्यों के सिर पर हाथ रखकर ‘ शक्तिपात ‘ करते हैं…

भगवान सूर्य के रथ को 7 घोड़े खींचते हैं उसका रहस्य।

सूर्य के रथ को सात घोड़े खींचते हैं । ऐसा लोगों का विचार है । इन सात घोड़ो का वैज्ञानिक रहस्य क्या हैं ? न तो सूर्य के पास कोई रथ है और न ही उस रथ को सात घोड़े खींचते है । सौर मण्डल में अपनी धुरी पर परिक्रमा करना ही सूर्य की गति…

कर्मफल का सिद्धांत । क्या कर्मफल भोगने पड़ते हैं ।

कर्मफल क्या है ? क्या कर्मफल अवश्य भोगने पड़ते हैं ? जो शुभ – अशुभ , पुण्य अथवा पाप जीव करता है , उसके उन कर्मों के अनुसार उसे ‘ फल ‘ की प्राप्ति होती है । कितने लोग कहते हैं कि अमुक व्यक्ति ने कभी पाप नहीं किया फिर भी बेचारा दरिद्री और अभावों…

पुनर्जन्म क्या है। पुनर्जन्म का अर्थ । What is rebirth and meaning of rebirth

पुनर्जन्म वैज्ञानिक है या केवल अवधारणा हैं । विज्ञान के अनुसार कोई भी पदार्थ कभी नष्ट नहीं होता बल्कि वह किसी अन्य रूप में परिवर्तित हो जाता है । जैसे हरे – भरे वृक्ष सैंकड़ो वर्ष बाद सूख जाते हैं । तब उन्हें हम वृक्ष न कहकर ‘ लकड़ी ‘ कहते हैं और वही लकड़ी…

शिखा (चोटी) रखने का फायदे एवं बैज्ञानिक कारण ।

शिखा ( चोटी ) क्यों रखते हैं । तथा शिखा में ग्रन्थि ( गाँठ ) लगाने का क्या उद्देश्य हैं ? सन्धया चन्दन , गायत्री जप , यज्ञ अनुष्ठान आदि में शिखा का होना परम आवश्यक है । द्विज ( ब्राहम्णों ) के लिखे शास्त्र भी शिखा रखने के लिए कहते हैं । धर्म शास्त्रों…

भविष्य क्या है।क्या भविष्य को भाग्य के सहारे छोड़ देना चाहिए

लोग भविष्य के लिए ज्यादा चिन्तित रहते हैं । क्या भविष्य को भाग्य के सहारे छोड़ देना चाहिए ? सृष्टि की रचना जब से हुई , तब से लेकर आज तक मनुष्य अपने भविष्य को जानने के प्रति काफी जिज्ञासु रहा है और जिज्ञासा भविष्य में आने वाली सन्तानों में भी रहेगी । इसी भविष्य…

भोजन के बाद क्या करना चाहिए और क्या नहीं।

भोजन के उपरान्त घूमना , टहलना चाहिए अथवा बिस्तर पर लेटकर आराम करना चाहिए । भोजन ग्रहण करने के पश्चात् कम से कम सौ से पाँच सौ कदम चलना अति आवश्यक है । चलने से भोजन यदि आहारनाल में कही थोड़ा बहुत फंसा भी होता है तो वह आसानी से पेट में पहुँच जाता है…

चेचक एक भंयकर रोग है , फिर इसे शीतला माता क्यों कहते हैं

चेचक एक भंयकर रोग है , फिर इसे शीतला माता क्यों कहते हैं ? चेचक के उपचार हेतु वैज्ञानकि एवम् डॉक्टरों ने बहुत बल दिया । इनके कथनानुसार चेचक विषाणुजनित ( वायरस ) रोग है । इसका इलाज औषधियों से हो सकता है किन्तु वे पूर्णतः सफल नहीं हुए क्योंकि जिस प्रकार कपड़ों में लगी…

मंत्र भी ‘ वैध ‘ एवम् ‘ अवैध ‘ होते हैं । क्या आप जानते हैं ।

क्या मंत्र भी ‘ वैध ‘ एवम् ‘ अवैध ‘ होते हैं ? जिस प्रकार की पति – पत्नी के समागम से उत्पन्न बालक को “ वैध ” तथा व्यभिचार द्वारा उत्पन्न बालक को समाज “ अवैध ” मानता है । जबकि उस बालक की उत्पत्ति स्त्री के ही गर्भ से होता है ठीक उसी…