हिस्टीरिया होने का कारण तथा होम्योपैथिक उपचार। Treatment of Hysteria

यह एक मानसिक रोग है | यह रोग ज्यादातर महिलाओं में देखा जाता है , प्रायः 14-20 वर्ष की आयु में इस रोग में रोगिणी कभी हसने लगती है तो कभी रोने लगती है | रोगी का अपने मन पर काबू | नहीं रहता है , छोटी – छोटी बातों का असर हो जाता है…

पशुओं में ऊपरी श्वसन तंत्र संक्रमण (यूआरटीआई) का उपचार । TREATMENT OF UPPER RESPIRATORY TRACT INFECTION ( U.R.T.I. )

LARYNGITIS , TRECHITIS AND BRONCHITIS रेस्पिरेटरी सिस्टम के ऊपरी भाग में इन्फ्लामेशन हो जाना , जिससे खांसी होती है तथा सांस में गर्र – गर्र की आवाज होती है । इसे पढ़ें– पालतु पशुओं के युरेथ्रा , ब्लेडर और किडनी में सूजन का कारण एवम् उपचार । TREATMENT OF BOVINE PYELONEPHRITIS ऊपरी श्वसन तंत्र संक्रमण…

आँखों के रोग , आँख दुखना , आँखों की सूजन एवं जलन का कारण एवं उपचार ।

आँखों के रोग , आँख दुखना , आँखों की सूजन एवं जलन का कारण क्या है । अधिक ठंड , अधिक गर्मी , या आँखों में धूल जाने से या आँखों में किसी संक्रामक बीमारी के कारण दर्द होना शुरू हो जाता है और आँखें आ जाती हैं । इस कारण आँखों से पानी निकलता…

मुत्राशय प्रदाह ( जलन )का घरेलू उपचार । Home treatment of Cystitis

मुत्राशय प्रदाह ( जलन ) क्या है । इस रोग में मुत्राशय में दर्द होता है । और बार – बार पेशाब जाने की इच्छा होती है और पेशाब करते समय मुत्राशय में जलन और दर्द रहता है कष्ट के साथ पेशाब आती है । और पढ़ें – बहुमुत्र- ( बार – बार पेशाब आना…

तपेदीक ( टी . बी . ) का कारण एवं घरेलू उपचार । Home treatment of Tuberculosis

तपेदीक ( टी . बी . ) क्यों होता है। टी . बी का रोग किटाणुजन्य होता है । इसके अलावा प्रदुषित वातावरण में रहने से , अधिक श्रम करने से , चिंता करने से और पौष्टिक आहार न मिलने से यह रोग होता है । और पढ़ें – खाँसी का प्रकार एवं घरेलू उपचार…

बहुमुत्र- ( बार – बार पेशाब आना ) का लक्षण और घरेलू उपचार ।

बहुमुत्र- ( बार – बार पेशाब आना ) का लक्षण क्या है । बहुमूत्र रोग में बार – बार पेशाब आती है । और थोड़ी – थोड़ी पेशाब आती है । बार – बार पेशाब जाने का मन करता है । यह रोग बच्चों तथा युवाओं को अधिक होता है और अधिकांशतः अनुवांशिक है ।…

सर्दी – जुकाम और नजला का कारण, लक्षण एवं उपचार । Home treatment of Cold

जुकाम क्यों होता है ? सामान्य रूप से ठंड लगने , या ठंडे पानी में चलने – फिरने से नजला – जुकाम हो जाता है । यह एक प्रकार का संक्रामक रोग है । सर्दी का ज्वर या जुकाम ( Fathrral Fever ) ठण्डी हवा लगने , पानी में भीगने , ओस में सोने आदि…

खाँसी का प्रकार एवं घरेलू उपचार । Home treatments of Cough

खांसी होने का कारण क्या है । नाक में धूल अथवा धुंए के प्रवेश आदि कारणों से खाँसी उठती है । खाँसी मूली ,बेर अथवा ठंडी बस्तुओं के खाने के बाद पानी पीने से भी होता है। यह कोई स्वतन्त्र रोग न होकर , अन्य रोगों का लक्षण मात्र है , परन्तु कुछ दिनों तक…

श्वसन तंत्र के रोग का कारण, घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपचार।

श्वास रोग क्या है । श्वसन संस्थान हमारे शरीर में सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है । हमारे साँस लेने से लेकर और साँस निकालने तक की प्रक्रिया में ढेर सारे अंगो का उपयोग होता है । नाक , गला , हृदय , फेफड़े , पसलियां , डायफ्राम , आदि अंगो का उपयोग होता है । यदि…

दमा का कारण, आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपचार । Home treatment of Asthma

दमा (Asthma) किसे कहते हैं। जब फेफड़ों में जकड़न एवं संकुचन होने के कारण साँस लेने में तकलीफ हो तो यह दमा की स्थिति कहलाती है । दमा (Asthma) होने का कारण क्या है । ज्यादातर यह रोग अधिक उम्र के लोगों को होता है । धूल और धुआँ भरे महौल में रहने के कारण…