लंगड़ा बुखार का लक्षण एवं उपचार । TREATMENT OF BLACK QUARTER

अन्य नाम :- Black leg , Quarter leg , जहरबाद , काला बुखार ।

यह मुख्यतह गाय – भैंसों में पाया जाने वाला बैक्टीरियल रोग है जिसमें पशु के कंधे या पुढे की मांसपेशियों में गैस भरी सूजन होती है , तेज बुखार तथा सेप्टिसीमिया से पशु की मौत हो जाती है । यह रोग गोवंश के पशुओं में अधिक होता है लेकिन यह संक्रामक यानी छूत का रोग नहीं है । भारत के कर्नाटक , आंध्रप्रदेश , तमिलनाडू तथा राजस्थान में गायों व बैलों में यह रोग अधिक होता है । गर्म व नम जलवायु वाले राज्यों में यह जल्दी फैलता है । देश के लगभग 80 % मामले तो बम्बई , हैदराबाद , मैसूर तथा मद्रास व बाकी 20 % रोग के मामले देश के अन्य भागों में पाये जाते हैं । वर्षा ऋतु में इस रोग का प्रकोप अधिक होता है तथा इसमें मृत्यु दर बहुत अधिक होती है ।

लंगड़ा बुखार का लक्षण क्या है ।SYMPTOMS OF BLACK QUARTER :-

  • तेज बुखार ( 106 ° – 108 ° फा . ) लेकिन कभी – कभी बुखार नहीं भी ।
  • कंधे , पुढे या गर्दन की मांसपेशियों में सूजन से पशु लंगड़ाकर चलता है । एक पैर में स्पष्ट लंगड़ापन होता है ।
  • शुरुआत में यह सूजन ( necrotizing myositis ) गर्म व पीड़ादायक होती है लेकिन बाद में ठंडी व पीडारहित हो जाती है ।
  • सूजन के अंदर गैस भरी होने से बाहर से इस स्थान को दबाने से चरचराहट की आवाज आती है । ( cropitation sound )
  • सूजन वाली जगह की त्वचा सूख कर सख्त हो जाती है । इस जगह की त्वचा के रंग में भी बदलाव आ जाता है ।
  • यदि सूजन की जगह पर चीरा लगाया जाए तो काले रंग का झागदार ब्लड निकलता है ।
  • पशु द्वारा खाना , पानी बिल्कुल बंद , जुगाली भी नहीं , सुस्त ।
  • अंत में एकाएक टेम्प्रेचर गिरता है तथा पशु की 1-2 दिन में ही मौत हो जाती है । कई पशु तो बिना लक्षण प्रकट किए ही मर जाते हैं ।

लंगड़ा बुखार का एलोपैथिक दवा । TREATMENT OF BLACK QUARTER:-

रोग की शुरुआत में ही इलाज का थोड़ा असर होता है , वरना दवाईयों का कोई लाभ नहीं है ।

  • । Inj . Penicillin ( high dose ) 20-40 lac IU I / M – Crystalline Penicillin IN दे सकते हैं ।
  • Long acting Peniciilin – Inj . Longacillin 48 lac , IUI / M .
  • or Inj . Textracycline I / V .
  • Inj . Dexamethasone , I / V , I / M
  • Inj . Antiinflammatory , Analgesic I / M .

लंगड़ा बुखार का होम्योपैथिक दवा । Treatment Of Black Quarter :-

Leave a Reply

Your email address will not be published.