स्त्रियाँ माँग में सिन्दूर क्यों लगाती हैं।| एवं उसका वैज्ञानिक कारण ।

सनातन धर्म में स्त्रियाँ माँग में सिन्दूर क्यों लगाती हैं ? सीमन्त अर्थार माँग में सिन्दूर लगाना सुहागिन स्त्रियों का सूचक हैं । हिन्दुओं में विवाहित स्त्रियाँ ही सिन्दूर लगाती हैं । कुंवारी कन्याओं एवम् विधवा स्त्रियों के लिए सिन्दूर लगाना वर्जित है । इसके अलावा सिन्दूर लगाने से स्त्रियों के सौंदर्य में भी निखार…

देवी देवताओं पर क्या चढ़ायें जिससे वे प्रसन्न हों जाएं । क्या नही चढ़ायें।

पूजा पाठ में अनेक स्थान पर ऐसे आदेश निर्देश मिलते हैं कि यह वस्तु इस देवता पर चढ़ायें सारी वस्तुएं परमात्मा द्वारा ही प्रदान की गयी हैं । षोडषोपचार पूजन आदि में ऐसा विधान हैं । विष्णु जी को अक्षत ( चावल ) नहीं चढ़ाये जाते । तुलसी पत्र ही चढ़ाया जाता हैं क्योंकि तुलसी…

प्राणायाम क्या है । और प्राणायाम के फायदे ।

प्राणायाम क्या है ? प्राणायाम से क्या कोई लाभ होता है ? प्राणायाम का अर्थ है श्वास का नियंत्रण इस क्रिया के तीन अंग होते हैं – 1 . पूरक ( पूरा श्वास भीतर खीचना ) 2. कुंमक ( श्वास को भीतर रोकना ) 3 . रेचक ( नियमित विधि से श्वास छोड़ना ) ।…

सोयाबीन के फायदे । और सोयाबीन के कुछ व्यंजन एवं उन्हें बनाने की बिधी।

सोयाबीन से सभी प्रकार के खाद्य पदार्थ एवं व्यंजन बनाये जा सकते हैं जो अपेक्षाकृत सस्ते भी पड़ते हैं और पौष्टिक व शक्तिवर्द्धक भी होते हैं । गरीब वर्ग के लिए तो सोयाबीन प्रकृति का वरदान ही है मुझे आश्यर्च है कि भारतवासी इतने अच्छे खाद्य पदार्थ से अपरिचित और वंचित बने हुए हैं ।…

भगवान को प्रसाद क्यों चढ़ाते हैं । और उसका क्या फायदा है ।

भगवान को प्रसाद क्यों चढ़ाते हैं ? प्रभु की कृपा से जो कुछ भी अन्न – जल हमें प्राप्त होता है उसे प्रभु का प्रसाद मानकर प्रभु को अर्पित करना , कृतज्ञता प्रकट करने के साथ मानवीय सद्गुण भी है । भगवान् को भोग लगाकर ग्रहण किया जाने वाला अन्न दिव्य माना जाता है ।…