रिफाइंड तेल जहर है या उपयोगी । Refined oil is harm full for health

कच्ची घानी तेल का वात को ठीक रखने की सबसे अच्छी चीज है शुद्ध तेल । शुद्ध तेल का मतलब तेल की घानी से निकला सीधा सीधा तेल , मतलब जिसमें कुछ ना मिलाया गया हो । वागभट्ट जी ने इसी तेल को खाने की बात कही है । शुद्ध तेल के अंदर जो गध…

कोलेस्ट्रोल (Cholesterol) क्या होता है । कोलेस्ट्रोल की आवश्यकता । एवं कलेस्ट्रॉल का दुष्प्रभाव ।

कोलेस्ट्रोल क्या होता है ? यह एक चिकना पदार्थ है जो शरीर के लिए अति आवश्यक है । कुल कोलेस्ट्रोल का 3/4 भाग लीवर में बनता है व 1/4 कोलेस्ट्रोल खाने में मिलता है । कोलेस्ट्रोल की आवश्यकता हमें क्यों है ? शरीर की सबसे छोटी इकाई कोशिका है व कोशिकाओं को जोड़कर शरीर बनता…

तिलक क्यों लगाते हैं । तिलक लगाने के फायदे ।

तिलक क्यों लगाते है ? शास्त्रों के अनुसार यदि ब्राह्मण तिलक नहीं लगाता तो उसे ‘ चण्डाल ‘ समझना चाहिए । तिलक धारण करना धार्मिक कार्य माना गया है । क्या तिलक केवल ब्राह्मण लगा सकते हैं अन्य जातियाँ नहीं ? तिलक , त्रिपुण्ड , टीका अथवा बिन्दिया आदि का सीधा संबंध मस्तिष्क से होता…

सामान्य – ज्वर ( General Fever ) का आयुर्वेदिक उपचार ।

सामान्य – ज्वर ( General Fever ) किसे कहते हैं । सर्दी , तेज धूप , वर्षा में भीगना , अधिक परिश्रम , चोट , रात्रि जागरण , जलवायु के परिवर्तन , अनियमित भोजन , उपवास , मादक वस्तुओं का सेवन आदि कारणों से शरीर में उष्णता की मात्रा बढ़ जाती है , जिसे सामान्य…

प्रार्थना क्यों करें । प्रार्थना करने से क्या लाभ हैं ।

प्रार्थना करने से क्या लाभ हैं ? ह्दय से निकली हुई भावना को ही प्रर्थाना रुप से ईश्वर के सामने प्रकट करते हैं । प्रर्थना में ईश्वर की प्रशंसा करते हैं । विश्व में अनेक धर्मों को मानने वाले लोग हैं तथा उनकी अपनी अलग – अलग भाषायें हैं किन्तु सभी लोग प्रर्थनाओं के माध्यम…

पीपल वृक्ष पूज्यनीय क्यों है । पीपल के पवित्रता का धार्मिक कारण ।

पीपल वृक्ष की पवित्रता का धार्मिक कारण क्या है ? पीपल वृक्ष समस्त वृक्षों में सबसे पवित्र इसलिए माना गया हैं क्योंकि हिन्दुओं की धार्मिक आस्था के अनुसार स्वयं भगवान श्री हरि विष्णु जी पीपल वृक्ष में निवास करते है । श्री मद् भगवद्गीता में स्वयं भगवान श्री कृष्ण चन्द्रजी अपने श्री मुख से उच्चारित…

श्राद्ध आदि क्रियाओं को पुत्र ही क्यों करते हैं ।

मृत्यु के पश्चात् श्राद्ध आदि क्रियाओं को पुत्र ही क्यों करें ? पिता के वीर्य अंश उत्पन्न पुत्र पिता के समान ही व्यवहार वाला होता है । हिन्दू धर्म में पुत्र का अर्थ हैं – ‘ पु ‘ नाम नर्क से ‘ त्र ‘ त्राण करना अर्थात् पिता को नरक से निकालकर उत्तम स्थान प्रदान…

उपवास (daiting) क्यों रखें। उपवास रखने के फायदे ।

व्रत – उपवास रखने का धार्मिक एवम् वैज्ञानिक कारण बताइये ।व्रत – उपवास रखने से क्या होता है ? धार्मिक विचारधारा के अनुसार देवी – देवताओं को प्रसन्न करने के लिए व्रत उपवास रखना चाहिए । देवी – देवता प्रसन्न होने पर भक्त को मनोवांछित फल प्रदान करते हैं । वैज्ञानिक दृष्टिकोण से उपवास रखने…

वर्ण – व्यवस्था क्या है। वर्ण – व्यवस्था किसपर लागु होती है।

वर्ण – व्यवस्था में शूद्रों को कहीं श्रेष्ठ पद प्राप्त हुआ या नहीं ? सर्वप्रथम तो यह बता देना उचित होगा कि वर्ण व्यवस्था के अन्तर्गत शूद्रो को उच्चपद का कहीं निषेध नहीं है । पूर्वाकाल में शूद्रों में वाल्मीकि जी थे जो श्री राम जी के परम भक्त थे । श्री वाल्मीकि जी ने…

पीलिया ( जॉन्डिस ) रोग का कारण, लक्षण एवं घरेलू , आयुर्वेदिक उपचार । (Home Remedies for Jaundice in hindi )

पीलिया ( जॉन्डिस ) को पांडु ( पीलिया ) कमला तथा हलीमक रोग भी कहते हैं । पीलिया ( जॉन्डिस ) रोग क्यों होता है । पीलिया रोग अधिकांशतः पानी की अशुद्धि के कारण होता है । इसका मुख्य कारण शरीर में सही ढंग से खून ना बनना है । इस कारण शरीर में पीलापन…