शिखा (चोटी) रखने का फायदे एवं बैज्ञानिक कारण ।

शिखा ( चोटी ) क्यों रखते हैं । तथा शिखा में ग्रन्थि ( गाँठ ) लगाने का क्या उद्देश्य हैं ?

सन्धया चन्दन , गायत्री जप , यज्ञ अनुष्ठान आदि में शिखा का होना परम आवश्यक है । द्विज ( ब्राहम्णों ) के लिखे शास्त्र भी शिखा रखने के लिए कहते हैं । धर्म शास्त्रों के अनुसार शिखा में ग्रन्थि लगाकर ही संध्यावन्दन या यज्ञ हवन आदि करना चाहिए ।

वैज्ञानिक कारण- शिखा वाले स्थान पर ‘ ब्रह्म रन्ध्र ‘ होता है जिसे ‘ दशम द्वार ‘ भी कहते हैं जरा सी चोट उस स्थान पर लगने से मनुष्य की मृत्यु भी हो सकती हैं । दशमद्वार की रक्षा हेतु शिखा रखने का विधान हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.