लकवा / पक्षाघात का 10 अचुक देसी ईलाज इन 2021

लकवा / पक्षाघात क्या है ?

लकवा / पक्षाघात होने पर रोगी का आधा शरीर संवेदनहीन हो जाता है । पेट में अधिक गैस बनने , मस्तिष्क पर वायु का दबाव पडने और हृदय पर वायु का दबाव बढ़ने से शरीर पर वायुका झटका लगता है । इसी के परिणाम स्वरूप व्यक्ति लकवे का शिकार हो जाता हैं । स्नायु शिथिल हो जाते हैं ।

लकवा / पक्षाघात के लक्षण क्या है?

शरीर का आधा भाग टेढा हो जाता है । उस भाग में सुन्नता रहती है तथा छुने पर कोई संवेदना नहीं होती । दिमाग भी काम करना कम कर देता है ।

लकवा / पक्षाघात का घरेलू उपचार क्या है ?

इसके घरेलू नुस्खे निम्न लिखित हैं ।

  1. राई और अकरकरा को बराबर मात्रा में पीसकर चूर्ण बनायें तथा उसे शहद में मिला कर पेस्ट बनायेंऔर दिन में 3 बार जीभ पर मले लकवे की शिकायत दूर होगी ।
  2. 250 मी . ली . लीटर गाय के दूध में 8-10 लहसुन की कलियाँ डालकर उबालें । गाढ़ा होने पर रोगी को पिलायें । बीमारी में आराम मिलेगा ।
  3. सौंठ और उड़द उबालकर उसका पानी पीने से लकवे में काफी लाभ होता है ।
  4. एक चम्मच कपास की जड़ का चूर्ण शहद में मिलाकर चाटने से लाभ मिलता है ।
  5. लहसुन की 5-6 कच्ची कलियों को पीसकर शहद में मिलाकर चाटें ।
  6. उड़द + कौंच के बीज + एरंड की जड + बला + हींग + सेंधा नमक और थोड़ा शहद – सभी बराबर मात्रा में लेकर काढ़ा बनायें और रोगी को पिलायें । बीमारी में आराम मिलेगा ।
  7. 250 ग्राम सरसों के तेल में थोड़ी काली मिर्च पीसकर डालें और मालिश करें ।
  8. सन के बीजों का चूर्णशहद में मिलाकर रोगी को चटायें लाभ मिलेगा ।
  9. कुचले के पत्तों , सांभर का सींग तथा सौंठ – तीनों बराबर मात्रा में लेकर पानी में पीयें और लकवे वाले स्थान पर लगायें ।
  10. तुलसी के 8-10 पत्ते , सेंधा नमक और दही की चटनी बनाकर लकवे वाले स्थान पर लेप करें ।

श्वेत प्रदर ( ल्यूकोरिया ) के रामबाण 11 घरेलू उपचार

रक्त प्रदर की अचुक घरेलू नुस्खे ( 2021 )

( 14 ) घरेलू उपचार निम्न रक्तचाप के लिये । Top 14 home remedies for low blood pressure

Leave a Reply

Your email address will not be published.