रतौंधी के कारण एवं घरेलू ईलाज । TOP 11 HoME REMEDIES FOR NIGHT BLINDNESS

रतौंधी होने का कारण क्या है ?

अत्यधिक धूल , तीव्र प्रकाश , और दुषित पर्यावरण के कारण रतौंधी होती है ।

रतौंधी में क्या होता है ?

इसमें रोगी को रात्रि में बिल्कुल नहीं दिखाई देता तथा दिन में ठीक दिखाई देता है ।

रतौंधी के घरेलू उपाय क्या है ?

रतौंधी घरेलू उपाय निम्न लिखित हैं ।

  1. तुलसी के पत्तों का रस दिन में 3-4 बार आंखों में डालें ।
  2. सफेद प्याज कारस आँखों में डालने से रतौंधी में लाभ होता है ।
  3. देशी गाय का मूत्र आँखों में डालने से काफी लाभ होता है ।
  4. हरे धनिये का आँखों में डालने से लाभ होता है ।
  5. आँखों में शुद्ध शहद लगाने से भी काफी आराम मिलता है ।
  6. प्रतिदिन रात्रि विश्राम से पहले त्रिफला चूर्ण का सेवन करें और रात्रि में भिगोये हुये त्रिफला के पानी से आँखों को धोये ।
  7. बथुये के पत्तों का रस आँखों में डालने से रतौंधी ठीक होती है ।
  8. गुलाब जल में शुद्ध रसौत फुली हुयी फिटकरी और जरा सा सेंधा नमक मिलाकर शीशी में भर लें और प्रतिदिन आंखों में डालें ।
  9. गुलाब जल में ताजे खीरे का रस और अनार का रस मिलाकर बूंद – बूंद डालने से आराम मिलता है ।
  10. दूब का रस आँखों में डालने से काफी आराम मिलता है ।
  11. करेले के पत्तों के रस में थोड़ा काली मिर्च पीसकर मिलायें और आँखों के बाहरी हिस्सों पर लगायें ।

दिनौंधी ( Day Blindness ) तथा रतौंधी ( Night Blindness ) के लक्षण एवं होम्योपैथक दवाएं

मोतिया बिंद ( Cataract ) के टॉप 10 होम्योपैथिक दवा

रतौंधी ( Night Blindness )

Leave a Reply

Your email address will not be published.