मुँह के छाले का ( 9 ) सबसे असरदार आयुर्वेदिक, घरेलू नुस्खे ।

मुँह के छाले का कारण क्या है ?

मुँह के छाले प्रायः पेट की गड़बड़ी से होते हैं । ज्यादा गर्म चीजों को खाने से , आमाशय की गड़बड़ी , रक्त की अशुद्धि आदि से भी होता हैं ।

यह छाले कभी जीभ की नोक पर तो कभी पूरी जीभ पर निकलते हैं । छार के कारण मुँह में बार – बार पानी आने लगता है । इन छालों में जलन तथा दर्द हो है । होठों पर भी छाले आ जाते हैं ।

मुँह के छाले का घरेलू उपाय क्या है ?

छाले कि घरेलू उपाय निम्न लिखित है ।

  1. भोजन के बाद सौंफ ( पिसी हुई ) के पानी से कुल्ला करें । आराम मिलेगा ।
  2. तुलसी के पत्तों का रस जीभ व दाँतों पर लगायें । छाले ठीक होंगे ।
  3. दो चम्मच हल्दी का चूर्ण पानी में उबालकर उससे कुल्ला करें ।
  4. गुड़ चूसने से भी आराम मिलता है ।
  5. नीम का गोंद चूसने से छालों में कमी आती है ।
  6. गूलर का दूध छालों पर लगायें ।
  7. मुलहठी के काढ़े का गरारा करने पर छाले कम होते हैं । इस काढ़े थोड़ा शहद भी मिला सकते हैं ।
  8. जामुन के मुलायम पत्तों अथवा बेर के पत्तों का काढ़ा बनाकर कुला करें ।
  9. गाय के दूध में एक चम्मच घी डालकर पीयें ।
  10. कच्चे करेले का रस निकालकर पानी में मिलायें , उस पानी से कुला करें ।
  11. हरे पुदीने को पानी में उबालें तथा उबले पानी से ( ठंडा करके ) कुला करें ।
  12. गाय के घी में कपूर डालकर गर्म करें । ठंडा होने पर जीभ पर लगा छाले निश्चित रूप से कम होंगे ।
  13. मेथी के दानों को पानी में उबालें । उस पानी से गरारा करें ।
  14. मेहंदी की पत्तियों को चबाने से छाले ठीक होते हैं ।
  15. हरी दूब का काढ़ा बनाकर कुल्ला करें । छाले कम होंगे ।
  16. लाल दवा जीभ पर लगाने से ( लार निकलने दें ) छाले कम होते हैं ।

जीभ व मुंह के अंदर के छालों (Aphthae) से पाएं छुटकारा होम्योपैथिक के द्वारा

मुंह के छालों के होने का कारण तथा उसका घरेलू उपचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.