पेरोटाइटिस ( PAROTITIS ) का होम्योपैथीक इलाज

प्रायः दूसरी सेलिवरी ग्लेड्स के मुकाबले पेरोटिड ग्लेण्ड ही अधिक प्रभावित होती है । इसमें इन्फेक्शन होने से सूजन हो जाती है । कभी – कभी तो गले तक सूजन हो जाती है । अडिमा भी हो जाता है तथा सांस में तकलीफ होती है ।

  • बेरायटा कार्बोनिका ( Baryta Carbonica ):- छोटे बछडों में यह रोग होने पर दिन में दो बार पांच दिन तक दें ।
  • बेलाडोना 1000 ( Belladonna 1M ) :- जब पेरोटाइटिस में सूजन के साथ त्वचा गर्म हो , सूजन कठोर हो तो बेलाडोना हर घंटे चार – पांच बार दें ।
  • हिपर सल्फ ( Hepar Sulph ) :- ग्लेण्ड की सूजन के साथ तेज दर्द हो तथा मवाद बननी शुरू हो गई हो ।
  • पल्सेटीला ( Pulsatilla ):- जब दाहिने साइड की पैरोटिड ग्लैण्ड में सूजन हो तो दिन में दो बार चार दिन तक दें ।
  • फायटोलेका ( Phytolacca ):- जब पेरोटिड ग्लेण्ड में कठोर सूजन हो , मवाद नहीं बनी हो तथा आस पास की दूसरी ग्लेण्ड्स भी प्रभावित हो सकती है तो पांच बूंद दिन में तीन बार तीन दिन तक दें ।

पशुओं के पेट मे किड़े का अचुक होम्योपैथीक दवा. गाय, भैंस, बकरी गर्म होने ( ANOESTRUS ) का होम्योपैथिक दवा

Leave a Reply

Your email address will not be published.