पायोरिया ( Pyorrhoea ) का होम्योपैथीक दवा , टूथपेस्ट तथा टूथपाउडर

जब मसूड़ों के घाव पुराने पड़ जाते हैं तो उनमें दर्द तो नहीं होता मगर मसूड़ों से मवाद निकलता रहता है । इस मवाद के पेट में जाने के कारण पेट में अक्सर गड़बड़ हो जाती है।

  • पायोरिया की मुख्य औषधि । – हैक्ला लावा 3X या 4X , दिन में 3-4 बार
  • पायोरिया की मुख्य औषधि । इस दवा के सेवन से काफी फायदा होता है ।- कैलेंडुला ३० , दिन में ३ बार
  • मसूड़े फूले हुए ; उनमें दर्द होता है । ठंडी या गर्म वस्तु पीने से आराम होता है – साइलिशिया ३० या 6x , दिन में ३ बार
  • मुख्य दवा ( सम्पूर्ण लक्षण के लिए मसूड़ों के रोग देखें।) – कार्बो वेज 3X , २-४ ग्रेन दिन में ४ बार
  • जब मुँह से बदबू आए व दाँत ढीले हो जाएं । मसूड़े दाँतों से अलग हो जाएं उनसे मवाद आए । – काली कार्ब ३० , में ३ बार
  • दाँतों में सड़न ( caries ) व मुँह से बदबू आए ; गंदा खून निकले । – क्रियोज़ोट ३० दिन में ३ बार
  • जब मसूड़े काले या लाल हों , मुँह से बदबू एवम् बदबूदार लार आए , मसूड़ों से खून रिसे । – बैप्टिशिया ६ या ३० , दिन में 3 बार
  • Tooth Powder : Wheezal Hekla Lava Tooth Powder for Bleeding of Gums
https://homeomart.com/?ref=9kz7veg4se

Tooth paste: Wheezal Hekla Lava Dental Cream

https://homeomart.com/?ref=9kz7veg4se

सामान्य देख रेख : कैलेण्डुला Q एक हिस्सा 10 हिस्से पानी में मिला कर कुल्ला करना चाहिए । होम्योपैथिक टूथ पाउडर जिनमें हैक्ला लाव , क्रियोज़ोट व कुछ बायोकैमिक औषधियों दिन हों , फायदेमंद हैं ।

अब सुंदर दिखे होम्योपैथिक के साथ (Some beauty tips in homeopathic). बिवाइयों (Chilblains) को जड़ से करें खत्म

Leave a Reply

Your email address will not be published.