गाय, भैंस, बकरी गर्म होने ( ANOESTRUS ) का होम्योपैथिक दवा

  • पल्साटिला ( Pulsatilla )- यह उस पशु में अच्छा रेस्पॉन्स देती है जो साइलेन्ट हीट में आते है तथा रिटेंशन ऑफ प्लेसेन्टा के बाद हीट में नहीं आते हैं ।
  • सीपिया ( Sepia ) – यह ओवरी व युटेरस के लिए एक प्रकार का टॉनिक है । इसके अलावा पूरे जनन अंगों पर भी असर होता है तथा कई विकार दूर करती हैं ।
  • आयोडम ( lodum ) – जब रेक्टल परीक्षण में लगे कि ओवरी नॉर्मल साइज से छोटी या सिकुडी हुई हो जिससे नॉर्मल ओव्युलेशन नहीं होता है तो आयोडम दिन में एक बार दस दिन तक दें ।
  • कैल्केरिया फॉस्फोरिका ( Calcarea Phosphorica ) – जब गर्भाशय में इन्फेक्शन के कारण पशु हीट में बराबर नहीं आता हो मवाद निकलती हो या वेजिनाइटिस हो । एक डोज रोजाना तीन दिन फिर एक दिन छोड़कर तीन डोज दें ।
  • कैल्केरिया कार्ब + नेट्रम म्यूर ( Cal Carb + Natrum Mur ) – इन दोनों दवाओं को सप्ताह में दो बार एक महीने तक दें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.