पशुओं के थेलेजिओसिस का कारण और उपचार । TREATMENT OF THELAZIOSIS

Synonym – Eye worm disease.

थेलेजिओसिस का कारण क्या है । ETIOLOGY OF THELAZIOSIS

ETIOLOGY- Parasite of Thelazia species ,

Th . rhodesi , Th . skrjabini , Th.gulose

सफेद रंग के ये पैरासाइट गाय , भैंस , भेड़ , बकरियों की आंख की म्युकस मेम्ब्रेन ( conjuctival membrane ) में पाये जाते हैं । सर्दियों व बरसात में इसका प्रकोप अधिक होता है , जबकि गर्मियों में कम होता है ।

और पढ़ें – लैश्मानिओसिस ( LEISHMANIOSIS ) का कारण, लक्षण एवं उपचार

थेलेजिओसिस रोग का जीवन चक्र क्या है । LIFE CYCLE OF THELAZIOSIS

पशुओं की आँख में रहने वाले इन पैरासाइट्स से लार्वा बाहर निकलते हैं । आँख के आस – पास बैठने वाली मस्का बंश की मक्खियाँ इन लार्वाओं को निगल जाती हैं । मक्खी के शरीर में विकसित होकर संक्रामक लार्वा का रूप धारण कर लेते हैं और मक्खी के मुँह के अंगों तक आ जाते हैं । ये मक्खियाँ जब भी किसी पशु की आँख पर बैठती हैं तो आँख की म्युकस मेम्ब्रेन पर पैरासाइट संक्रामक लार्वा छोड़ देती है । आँख में लगभग डेढ़ महिने में लार्वा एडल्ट थैलेसिया पैरासाइट बन जाता है

इसे पढ़ें – फाइलेरियल डर्मेटाइटिस का कारण एवम् उपचार । TREATMENT OF FILARIAL DERMATITIS

थेलेजिओसिस के लक्षण क्या है । SYMPTOMS OF THELAZIOSIS

  • व्यस्क थेलेसिया पैरासाइट पशु की आँख की पलक के नीचे इंर्टनल कैन्थस तथा आँसू की नली ( lacrimal duct ) में पाये जाते हैं ।
  • प्रायः ये पशु को कोई खास नुकसान नहीं पहुंचाते हैं और आँसू या मवाद निकलती है ।
  • रोग तेज होने पर आँख सफेद हो जाती है तथा इलाज न मिलने पर लेक्रिमेशन , कंजक्टिवाइटिस तथा केरेटाइटिस के साथ आंख में अल्सर भी बन जाते हैं ।

थेलेजिओसिस का डायग्नोसिस कैसे करें । DIAGNOSIS of THELAZIOSIS

  • आँख की म्यूकस मेम्ब्रेन की आँख की जाँच करने पर थेलेसिया पैरासाइड लार्वा मिलता है ।
  • आँसू की जांच में पैरासाइट अंडे या लार्वा मिलते हैं ।
  • पशु की आँख के पास काफी मक्खियाँ भिनभिनाती हैं ।

थेलेजिओसिस का उपचार क्या है । TREATMENT OF THELAZIOSIS

  • उपयुक्त चिमटी से पकड़कर पैरासाइट को से बाहर निकालें ।
  • Tetramisol – 15 mg / kg b.wt. – orally .
  • पशु की आँख में बोरीक एसिड पाउडर डालें ।
  • रोकथाम के लिए पशु बाड़े में यथा संभव मक्खियों पर नियंत्रण करें ।

इसे पढ़ें – पशुओं में होने वाले रिंग वर्म ( RING WORM ) का उपचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.