दिनौंधी ( Day Blindness ) तथा रतौंधी ( Night Blindness ) के लक्षण एवं होम्योपैथक दवाएं

दिनौंधी ( Day Blindness )

दिनौंधी ( Day Blindness ) क्या है ?

दिनौंधी : दिन में ठीक से न देख पाना ।

दिनौंधी ( Day Blindness ) का होम्योपैथीक दवा क्या है ?

  • धुंधली दृष्टि , आंख के सामने काले बिंदु मंडराते हों , शाम के समय और हाथों से आंख को ढ़क कर रोगी देख सकता है । अचानक बिजली कौंधने या बिजली गिरने से रोग हो । :- फॉस्फोरस २०० या 1M , आवश्यकतानुसार
  • ख़ास कर रोग जब पैरों का पसीना दब जाने से हो । :- साइलिशिया ३० या २०० , दिन में ३ बार
  • दिनौंधी की उत्कृष्ट दवा । सूर्योदय के बाद मुश्किल से ही कुछ दिखाई दे । :- बोथरॉप्स ३० , दिन में ३ बार

रतौंधी ( Night Blindness )

रतौंधी ( Night Blindness ) किसे कहते है?

रतौंधी : रात के समय ठीक से दिखाई न देना ।

रतौंधी ( Night Blindness ) का होम्योपैथिक दवा क्या है ?

  • सूर्यास्त से सूर्योदय तक ठीक प्रकार से न देख सकना । :- फ़ाइसोस्टिगमा 3x ,या ६ , दिन में ४ बार
  • मलेरिया के बाद या जैविक नावों के हास के बाद रतौंधी की शिकायत । :- चाइना ३० , दिन में ४ बार
  • यकृत या जिगर ( liver ) की बीमारी के बाद । :- नक्स वोमिका ३० , दिन में ३ बार
  • अचानक तीव्र दर्द के साथ रोगी को रात में ठीक से न दिखे । :- लाइकोपोडियम ३० , दिन में ३ बार

गुहेरी या अंजनहारी ( Stye ) का होम्योपैथक दवा

नेत्र शोथ ( Conjunctivitis ) या आँख आने का होम्योपैथक दवा

Leave a Reply

Your email address will not be published.