दांतो के लिए घरेलू उपचार

1. आपके मसूड़ों पर सूजन व दर्द है तो कुंदरु नामक वनस्पति होती है उसके पत्तों का रस निकालकर थोड़ा सा गेरू मिलाकर रुई के फाहे में भिगोकर मसूड़ों में दवालें । दस मिनट नहीं होंगे कि दर्द बन्द हो जायगा ।

2. कुंदरु की पहिचान- कुंदरु अधिकांश जंगली होता है , झाड़ियों पर इसकी वेल होती है , पत्ते गोल कटे हुए होते हैं , फूल सफेद व फल पकने पर लाल होते हैं । बारहों महीने वेल हरी रहती है ।

3. लौंग 1.5 ग्राम , कपूर 3 ग्राम दोनों बारीक पीसकर दांतों पर मलने से दांतों के सब रोग दूर हो जाते हैं ।

4. 1.5 ग्राम , कपूर 3 ग्राम दोनों बारीक पीसकर दांतों पर मलने से दांतों के सब रोग दूर हो जाते हैं ।

5. दांतों से चबाने पर दर्द होता है तो वह रात को सोते समय थोड़ी – सी पिसी हल्दी व सरसों के तेल का दांतों पर लेप कर लें तथा सुबह कुल्ला कर लें । ध्यान रहे कि लेप करने के बाद कुछ भी खाना पीना नहीं है । यह आजमाया हुआ नुस्खा है ।

6. प्याज के पानी को दांतों पर मलने से बहुत से रोग ठीक हो जाते हैं और कीड़ा नहीं लगता ।

दाँतो के लिए मंजन

1. दाल चीनी , भुना हुआ धनिया , सेंधा नमक , काली मिर्च , चोब चीनी , मस्तगी और कपूर कचरी , प्रत्येक दस ग्राम । पपड़िया कत्था बीस ग्राम , माजू फल पांच नग । इन सबको कूट – पीसकर मंजन बना लें । इस मंजन का प्रयोग करने से दंत रोग दूर होंगे ।

2. अजवायन खुरासानी , वायविडंग , अकरकरा तीनों की बराबर मात्रा लेकर कूट – पीसकर मंजन बना लें । इस मंजन के प्रयोग से दांत स्वच्छ और दृढ़ होते हैं ।

3.दांतों में अगर कीड़ा लगा हुआ है तो निम्नलिखित मंजन बनाएं- छिलका हरड़ , वहेड़ा , आंवला , सोंठ , काली मिर्च , छोटी पीपल , सेंधा नमक , सांभर नमक ,जूड़ी नमक , काला नमक , सच्ची खार , तूतिया भूनकर , पतंग , मांजू फल समस्त चीजों का समान भाग लेकर महीन पाउडर बनाकर सुरक्षित रखलें । सुबह शाम इसका मंजन करें । मंजन करते समय लार अन्दर न जाये , बाहर निकालें । चाहे आपके दांत कितने भी हिलते हों , मजबूत हो जायेंगे ।

4.अगर दांतों में मवाद बन गया है , दाँतों में दर्द होता है तो दो तोला बज्रदन्ती का काढ़ा करके फिटकरी का फूला मिलाकर गुनगुने काढ़े का कुल्ला करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.