एक्जीमा (Eczema) से छुटकारा होम्योपैथिक के द्वारा

खुजली , जलन , और दर्द के साथ त्वचा के ऊपर होने वाले छोटे – छोटे दानों को एक्जीमा कहते हैं । यह शरीर में कहीं भी हो सकता है । कान , शरीर के जोड़ या माथे , या कान के पीछे यह रोग ज़्यादा होते देखा गया है । दानों में से चिपचिपा पदार्थ निकले तो उसे बहने वाला एक्जीमा कहते हैं व दाने खुश्क हों तो खुश्क एक्ज़ीमा कहते हैं ।

खुश्क एक्ज़ीमा ( Dry Eczema )

  • त्वचा खुश्क , खुरदुरी , व छिछड़ेदार ( Scaly ) । रोगी की आंख की पलकें , कान , नाक के अगले हिस्से लाल । हथेली व पंजे गर्म । सुबह १०-११ बजे असहनीय भूख । त्वचा गंदी । रोगी नहाना न चाहे ।- सल्फर ३० , दिन में २-३ बार
  • त्वचा खुश्क व छिछड़ेदार , खासकर चेहरे व सिर में । ( बदबूदार नाव के कारण छिछड़े व नये दाने लगातार बनते रहते हैं ) । पसीना आने से रोगी को अच्छा लगता है।- सोराइनम २०० , २-३ खुराक
  • खुश्की के कारण त्वचा में सख्त दरारें । खुजलाने के कारण दाने । सख़्त कब्ज़ हो । सर्दियों में एवम् बिस्तर की गर्मी से रोग वृद्धि । – एल्यूमिना ३० , दिन में ३ बार
  • त्वचा पर दाने व फुन्सियों के कारण अत्यधिक खुजली । ठण्ड से रोग वृद्धि ।- रस टॉक्स ३० , दिन में ३ बार
  • रोग जब सर्दियों में बढ़े । खुश्की के कारण दरारें । ( पुराने रोग में इसी दवा की २०० या 1M शक्ति की एक खुराक १०-१५ दिन में एक बार दें ) । पतला पानी के समान स्राव ।- पैट्रोलियम ३० , दिन में २-३ बार
  • सिर के एक्जीमा में जब छिलके से ( crusts ) परत दर परत जम कर गोंद की तरह बालों को जकड़ लें।- मैज़ेरियम ३० , दिन में २-३ बार
  • बायोकैमिक औषधि :कैल्कोरिया सल्फ 6X

बहने वाला एक्जीमा ( Wet Eczema )

  • जब शहद की तरह का स्राव हो । गर्मी व रात में रोग बढ़े । ( पुराने रोग में 1M या इससे ऊपर की पोटेन्सी , १०-१५ दिन में एक बार दें ) । – ग्रेफाइट्स ३० , दिन में ३ बार
  • जब रोग खुश्क व ठंडी हवा से बढ़े । छूने से दर्द हो । एक्जीमा के दानों में मवाद व खुजली हो । – हिपर सल्फ ३० , दिन में २ बार
  • जब रात में रोग बढ़े ।- मर्क सौल ३० , दिन में ३ बार

आप दोनों दवाओं को खुश्क या बहने वाला एक्जीमा दोनों में कर सकते हैं।ये दोनों दवा काफी फायदेमंद है।

https://homeomart.com/?ref=9kz7veg4se
https://homeomart.com/?ref=9kz7veg4se

बिवाइयों (Chilblains) को जड़ से करें खत्म. दाद (Ringworm) होगा हमेसा के लिए गायब बस खाएं होम्योपैथिक दवा

Leave a Reply

Your email address will not be published.