5 होम्योपैथीक दवाएं कान दर्द ( Otalgia ) के लिए

सर्दी लगने , कान में सूजन हो जाने , चोट लगने , कान में अधिक मैल हो जाने , या कान में फुन्सी हो जाने , आदि की वजह से कान में दर्द हो सकता है ।

  1. जब अचानक ठंड लगने से कान में दर्द हो । – एकोनाइट ३० , 4 बून्द हर २ घंटे बाद
  2. असहनीय कान दर्द जो गर्म सेक से बढ़ता है । – कैमोमिला ३० , 4 बुंद हर २ घंटे बाद
  3. दर्द अचानक शुरू हो व कान में कील सी गड़ने का आभास हो । – बैलाडोना ३० या २०० , 4 बुंद हर २-३ घंटे बाद
  4. कान मे फुन्सी हो व कान का परदा फट गया हो , कान से नाव जिसमें खट्टी बदबू आए । – हिपर सल्फर ३० , 4 बुंद दिन में ३ बार
  5. सामान्य देख रेखः कान में मुल्लियन ऑयल ( Mullein Oil Drops ) डालने से फायदा होता है । यदि दर्द फुन्सी के या सर्दी – खाँसी के कारण हो तो उसका इलाज़ करें ।

कान बहने ( Otorrhoea ) का सबसे बेहतरीन (5) होम्योपैथिक दवाएं

कानों में मैल जमा होने ( Wax in Ears ) का होम्योपैथीक उपचार

1 Reply to “5 होम्योपैथीक दवाएं कान दर्द ( Otalgia ) के लिए”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *