कोलेस्ट्रोल (Cholesterol) क्या होता है । कोलेस्ट्रोल की आवश्यकता । एवं कलेस्ट्रॉल का दुष्प्रभाव ।

कोलेस्ट्रोल क्या होता है ?

यह एक चिकना पदार्थ है जो शरीर के लिए अति आवश्यक है । कुल कोलेस्ट्रोल का 3/4 भाग लीवर में बनता है व 1/4 कोलेस्ट्रोल खाने में मिलता है ।

कोलेस्ट्रोल की आवश्यकता हमें क्यों है ?

  • शरीर की सबसे छोटी इकाई कोशिका है व कोशिकाओं को जोड़कर शरीर बनता है । हर कोशिका का बाहरी कवच चिकनाई युक्त होता है । अगर कोशिका पर ये चिकनाई ना हो तो कोशिका मर जाएगी ।
  • नसो में यह दिमाग व शरीर के विभिन्न अंगों के बीच में सूचना का आदान प्रदान में खास महत्व रखता है ।
  • कोलेस्ट्रोल अनेक महत्वपूर्ण हारमोंस के निर्माण में आवश्यक होता है । हारमोंस शरीर में switch की तरह यानि on / off का काम करता है । जैसे कि मासिक धर्म ।
  • कोलेस्ट्रोल काफी क्रियाशील पदार्थों का भी निर्माण करता है जैसे कि सटेरोयड हारमोंस यह शरीर में रक्तचाप व ग्लूकोज़ को नियत्रित रखता है ।
  • अडरेनल – यह शरीर में नमक पानी का हिसाब रखता है ।
  • विटामिन डी – जो कि हड्डियों में कैल्शियम जमा करके , उसको | मजबूत करता है ।
  • बाईल एसिड – यह चर्बी के पाचन में काम आता है ।

कोलेस्ट्रोल कितने प्रकार का होता है?

कोलेस्ट्रोल दो प्रकार के होते हैं : –

  1. बुरा कोलेस्ट्रोल ( LDL , VLDL , Triglycerides )
  2. अच्छा कोलेस्ट्रोल ( HDL )

बुरा कोलेस्ट्रोल का क्या कार्य है?

बुरा कोलेस्ट्रोल का कार्य : LDL ( Low Density Lipo Protein ) :

यह एक प्रकार का वाहन है जो Liver में निर्मित कोलेस्ट्रोल को शरीर के विभिन्न अंगों में ले जाता है व अतिरिक्त कोलेस्ट्रोल रक्तवाहनियों में रक्त में उपलब्ध अन्य चीजों के साथ मिलकर सख्त हो जाता है जिसे प्लाक कहते हैं । यह प्लाक बड़ा होकर रक्तवाहनियों में जमा होकर उनको संकीर्ण कर देता है । अगर कोई खून का थक्का या ब्लड क्लोट यहाँ पर आ जाता है तो खून की नसों को जाम कर देता है । इससे विभिन्न अंगों में खून के बहाव में रूकावट आती है । तब उन अंगों में खून की कमी से हवा व खाना ( ब्लड शूगर ) मिलने में दिक्कत होती है । यदि दिल के किसी क्षेत्र में खून की कमी होती है तो दिल का दौरा पड़ता है । अगर दिमाग के किसी क्षेत्र में कमी होती है तो यह सदमा कर सकता है ।

Triglycerides – कार्बोहाइड्रेटस का अधिक सेवन करने से यह बढ़ जाता है । इसके बढ़ने से दिल का दौरा , सदमा या मधुमेह हो सकता है ।

अच्छा कोलेस्ट्रोल क्या कार्य करता है ?

अच्छा कोलेस्ट्रोल का कार्य : HDL ( High Density Lipoprotein ) –

यह अच्छा कोलेस्ट्रोल है । यह आपके विभिन्न अंगों में बुरे कोलेस्ट्रोलों द्वारा पहुँचाए गए अतिरिक्त कोलेस्ट्रोल को वापिस लीवर में ले जाता है ताकि आपका शरीर अतिरिक्त कोलेस्ट्रोल से निजात पा सके । इसलिए HDL को बढ़ाना चाहिए व LDL बढ़ाने वाली चीजों ( रिफाइंड तेल , रिफाइंड नमक , चीनी , मैदा ) का सेवन बंद करना चाहिए ।

अच्छा कोलेस्ट्रोल HDL ( High Density Lipoprotein ) बढाने का क्या उपाय है ?

HDL बढाने के तरीके : –

  • संतुलित आहार समय पर लें ।
  • दारू , बीड़ी , सिगरेट छोड़ने से भी HDL बढ़ेगा ।
  • व्यायाम करने से ।
  • शुद्ध घानी का तेल व शुद्ध देसी गाय के घी से HDL बढ़ेगा ।
  • वजन घटाने से भी HDL बढ़ेगा ।
  • पीतल के कलई वाले पतीले मे सोना उबालकर पीने से कोलेस्ट्रोल नियंत्रित रहता है । 500 ग्राम पानी में सोना उबाले और 150 – 200 ग्राम रहने पर गुनगुना पीयें ।

नोट : अगर आपका HDL 40 mg / dl है तो आप खतरे के निशान पर हो इसे तुरंत बढ़ाने की आवश्यकता है । आपका HDL 50 mg / dl है तो आप सुरक्षित हो व अगर आपका HDL 60 mg / dl है तो ये सबसे बेहतर स्थिति है । LDL . 130 mg / dl से कम होना चाहिए । Triglyceriles – 150 mg / dl से कम होना चाहिए । VLDL – 40 mg / dl से कम होना चाहिए ।

पीपल वृक्ष पूज्यनीय क्यों है । पीपल के पवित्रता का धार्मिक कारण ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.