अगर आपको भी मधुमेह या बहुमुत्र ( Diabetes ) है तो आप इन दवाओं का प्रयोग से मधुमेह को जड़ से खत्म कर सकते हैं

मधुमेह रोग दो प्रकार का होता है ।

१ ) जहाँ इन्सुलिन पर निर्भरता न हो – ऐसे रोगियों में आमतौर पर वशांगत प्रभात पाया जाता है ।

२ ) जहाँ इन्सुलिन पर निर्भरता हो – इसमें पैनक्रियाज़ के द्वारा इन्सुलिन की अपर्याप्त या फिर पैनक्रियाज़ द्वारा इन्सुलिन का स्राव बिल्कुल ही नहीं होता है । ऐसे रोगियों होम्योपेथिक इलाज पर निर्भर नहीं करना चाहिए ।

मधुमेह के लक्षण :-

बहुमूत्रता , भूख एवम् प्यास का बढ़ जाना , कमजोरी , आदि , इस रोग के खास लक्षण हैं ।

इस रोग में मूत्र की मात्रा बढ़ जाती है और मूत्र बार – बार होता है । मधुमेह में साथ चीनी भी मौजूद रहती है । रोगी धीरे – धीरे दुर्बल हो जाता है । इस रोग के रोगी को जख जाएं तो जल्दी नहीं भरते । कभी – कभी सड़ भी जाते हैं । रोग बढ़ने पर भूख नदारद , दुबलापन में सूजन , काम – वासना का बढ़ना , क्षय , खांसी , फेफड़े की सूजन , दिन – रात में बहुत अधिक , आदि , लक्षण पाए जाते हैं ।

  • पेशाब में शक्कर घटाने के लिए प्रमुख दवा । शरीर के ऊपरी हिस्से में घमोरियां हों । :- सिज़ीजियम जैं. Q , २०-३० बूंद दिन ३-४ बार , आवश्यकतानुसार
  • जीभ सफेद रंग की हो जाए । पेशाब में शक्कर आए । :- यूरेनियम निट 6 , आवश्यकतानुसार
  • पेशाब में जलन व एल्बुमिन ; शक्कर आए । पेशाब में नीलपुष्प के समान गन्ध । :- टैरेबिथ Q या 6, आवश्यकतानुसार
  • हाथ पैरों में जलन , पित्त की अधिकता के साथ रोग हो । :- सिफेलैण्ड्रा इण्डिका Q या ६ , आवश्यकतानुसार
  • बहुमूत्र के साथ जोड़ों में दर्द । :- लैक्टिक एसिड 3x या ६ दिन में ३ बार
  • जल्दी – जल्दी , दूधिया रंग का पनीला पेशाब आए । पेशाब आने से पहले बेचैनी व बाद में जलना रात के समय पेशाब जल्दी – जल्दी आए । पेशाब में फॉस्फेट हो । कमज़ोरी महसूस करे । पेशाब की मात्रा पिए गए पानी की मात्रा से अधिक हो एवम् पेशाब में शक्कर आए । :- एसिड फॉस Q या ६ , आवश्यकतानुसार
  • अत्यधिक पेशाब , पानी की तरह साफ , शक्कर युक्त । गर्भाशय रोग के बाद जब मधुमेह हुआ हो । गुर्दे के प्रदेश में लगातार दर्द बना रहे और छूने पर बढ़े । जब जीभ सफेद हो ; प्यास ज्यादा लगे । :- हैलोनीआस Q या ६ , आवश्यकतानुसार
  • जीभ चमकीली लाल रंग की हो जाए । प्यास ज्यादा लगे । पेशाब में शक्कर आए । :- नैट्रम सल्फ़ ३० या २०० , आवश्यकतानुसार
  • अधिक शराब पीने के फलस्वरूप रोग हुआ हो । रोगी शर्मीली प्रकृति का हो । रोगी खाने के बाद भी भूख महसूस करे । पेशाब में शक्कर आए । :- मैडोराइनम २०० या 1M , आवश्यकतानुसार
  • बायोकैमिक औषधि :- बायो नं 07
  • आप Dr.Reckeweg R40 drops -Diabetes mellitus, Blood Sugar दवा भी प्रयोग कर सकते हैं
https://homeomart.com/?ref=9kz7veg4se

आप Dr Reckeweg Biocombination 7 (BC7) tablets for Diabetes बी प्रयोग करें

https://homeomart.com/?ref=9kz7veg4se

सामान्य देख रेख : रोगी को खाने में कड़ा परहेज़ रखना चाहिए । मिठाई और चीनी बिल्कुल बंद कर देनी चाहिए । मूली , जामुन , करेला , मेथी , आदि , कड़वे एवम् कसैले स्वाद वाले फल एवम् सब्जियां फायदेमंद हैं । टहलना इस रोग में बहुत लाभदायक ।

उबासियां या जम्हाई ( Yawning ) का होम्योपैथिक दवा दर्दे दिल ❤️ (Angina Pectoris) की दवा सिर्फ होम्योपैथिक है

Leave a Reply

Your email address will not be published.